Nigar Shaji Biography (ISRO) Age height family In Hindi 2023

Nigar Shaji Biography In Hindi दोस्तों, आज के इस लेख मे हम एक भारत की बेटी के बारे मे बात करने वाले है। जो लाखो हज़ारो महिलाओं के लिए प्रेरणा बन चुकी है। जिन्होंने यह साबित किया महिलाओं मे भी ISRO की Scientist बनने की क्षमता है।

इन्होने अपनी क्षमता का प्रदर्शन दिखाया और Aditya-L1 मिशन की लॉन्चिंग मे अहम भूमिका निभाई है। Aditya-L1 की सफलता लॉन्चिंग के बाद जिनकी चर्चा शुरू हो गयी है उनका नाम है निगार शाजी। इसकी सफलता के पीछे निगार शाजी का महत्वपूर्ण योगदान है। यह इस पूरी परियोजना की निर्देशक है और ISRO मे 35 साल से काम कर रही है।

Aditya-L1 मिशन मे हज़ारो वैज्ञानिकों की योगदान है पर इस परियोजना को नेतृत्व करने वाली महिला डॉ. निगार शाजी पूरी भारत देश की ध्यान की हकदार है। इंजीनियरिंग करने के बावजूद भी अपने जूनून से प्रेरित होकर निगार शाजी ने 1987 मे ISRO मे शामिल हो गयी।

आज के इस लेख के बारे मे हम बात करेंगे निगार शाजी के जीवन के बारे मे, उनके बुरी परिस्थिति, कैसे एक मध्यम परिवार की लड़की ने इतनी ऊँची और लम्बी उड़ान को हासिल किया। आप भी अगर निगार शाजी की जीवनी जानने को उत्सुक है तो इस लेख को ध्यानपूर्वक शुरू से लेकर अंत तक पढ़े।

Nigar Shaji Biography In Hindi (महिला वैज्ञानिक का अहम रोल)
Nigar Shaji Biography Image (Credit By Good News Today)

Nigar Shaji Biography Introdunction

Nigar Shaji 59 वर्ष की हो चुकी है और करीब 35 वर्ष से लगातार ISRO मे अपनी अहम योगदान देते आ रही है। चंद्रयान 3 की सफलता के बाद हिंदुस्तान ने फिर एक बार इतिहास रच दिया। ISRO ने भारत का पहला सूर्य मिशन लॉन्च कर दिया है, जिसके जरिये सूर्य के रहस्य का पता लगाया जायेगा।

यह मिशन पूरी तरह से निगार साजी के नेतृत्व मे किया गया है। भारत के पहले सौर्य मिशन की सफलता ने निगार शाजी के उत्साह और गौरव को बढ़ाया है। यह एक मध्यम किसान परिवार से सम्बन्ध रखती है। निगार शाजी तमिलनाडु मे तेनकासी जिले की है। इनके माता पिता का नाम शेख मिरान और सैतून बीवी है। इनके पिता की पढ़ाई स्नातक तक पूरी हो रखी है उसके बाद वो खेती से जुड़ गए।

नामनिगार शाजी
जन्म1964
जन्म स्थानतमिलनाडु
माता का नामसैतून बीवी
पिता का नामशेख मिरान
आयु59 साल
नागरिकताभारतीय
शैक्षणिक योग्यताएनेक्ट्रॉनिक एंड संचार मे स्नातक की डिग्री
पेशावैज्ञानिक
ISRO मे शामिल1987
प्रोजेक्ट पर कामAditya-L1
धर्महिन्दू

Nigar Shaji Biography Carrier And Education

शाजी ने अपने इंटर तक की पढ़ाई SRM गर्ल्स स्कूल सेनागोट्टई से की है। मदुरै के कमराज विश्वविद्यालया से इलेक्ट्रॉनिक्स और संचार मे इंजीनियनीरिंग मे B.Tech किया है। रांची की BIT से ME की डिग्री हासिल कर रखी है। ME की डिग्री हासिल करने के बाद इन्होने ISRO मे आवेदन किया और इनका चयन 1987 मे हो गया। निगार शाजी 1987 मे सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र मे शामिल हुई। ISRO मे निगार शाजी लगभग 35 सालों से अपनी योगदान देती आ रही है। उनकी शुरुआती चयन ISRO के प्रमुख केंद्र में हुई थी।

कुछ समय तक यहां काम करने के बाद उनका स्थानांतरण बेंगलुरु की URL Satellite Centre में हो गया। विभिन्न पदों पर काम करते हुए उन्होंने Aditya-L1 Project की निर्देशक बनी और इससे पहले वह विभिन्न पदों पर भारतीय रिमोट सेंसिंग संचार और अंतर ग्रह उपग्रह के डिजाइन में शामिल रही। उन्होंने राष्ट्रीय संसाधन निगरानी और प्रबंधन के लिए भारतीय रिमोट सेंसिंग सैटेलाइट – “‘रिसोर्ससैट-2ए” की सहयोगी परियोजना निदेशक भी थीं। निगार शाजी हमेसा अपने कामों के प्रति समर्पित रही है, यही कारण है की यह अब इतने ऊँचे स्तर पर पहुंच गयी है।

Nigar Shaji Family

Nigar Shaji का जन्म तमिलनाडु के तेनकाशी जिले मे एक मध्यम परिवार मे हुआ था। इनके पिता का नाम शेख मिरान और माता का नाम सैतून बीवी है। इनके पिता किसान है और माता गृहिनी। इनके दो बच्चे है और इनके पत्ति एक इंजीनियर है जो दूसरे देश मे काम कर रहे है। निगार शाजी फिलहाल अभी अपनी माँ और बेटी के साथ बेंगलुरु मे रहती है। इनके बेटे नेदरलैंड मे एक बैज्ञानिक है। निगार शाजी ने अपने पिता को 30 वर्ष पहले ही खो दिया है। मगर उनके पिता जहाँ से भी उन्हें देख रहे होंगे, उन्हें अपनी बेटी पर नाज हो रहा होगा।

Nigar Shaji Aditya-L1 Mission

यह बहुत खुशी की बात है की एक मध्यम किसान परिवार से आने वाली लड़की Nigar Shaji, इनकी महत्वपूर्ण योगदान की वजह से भारत ने एक नया इतिहास रचा है। Aditya-L1 सूर्य का अध्यन करेगा और उससे जुड़े सारे रहस्य को हम सब तक पहुंचायेगा। ज़ब मिशन पूरा हुआ तो शनिवार को निगार शाजी ने कहा की यह “सपने की तरह सच हो गया”।

उन्होंने कहा मुझे बहुत खुशी हो रही है की Aditya-L1 को सफलतापूर्वक पीएसलवी द्वारा निर्धारित ओर्बीट मे डाला गया है। Aditya-L1 ने अपनी 125 दिन की यात्रा प्रारम्भ की है। जब यह अपने सभी मिशन के उद्देस्य को पूरा करेगा, तो यह देश के लिए और वैज्ञानिक समुदाय के लिए एक सम्पति होगी। मै इस मिशन को संभालने मे समर्थन और मार्गदर्शन के लिए पुरे ISRO टीम को धन्यवाद करना चाहती हूँ।


Nigar Shaji Aditya L1 Launch Video

Conclusion

दोस्तों, इस लेख मे हमने निगार शाजी का वर्णन किया है। यह अपने देश के विकास मे एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। उनके अटूट समर्पण, मेहनत, लगन, और उत्कृष्टा की वजह से इस उल्लेखनीय स्थिति तक पहुंची है।इस लेख मे निगार शाजी के बारे मे बहुत अच्छी अच्छी बातें लिखी है इसे जरूर पढ़े और अधिक से अधिक शेयर करे।

भारत की हर महिला को निगार शाजी से प्रेरणा लेनी चाहिए और सीखना चाहिए अगर वो मध्यम वर्ग के परिवार की होकर भी इतनी बड़ी मुकाम हासिल कर सकती है। तो हर महिला अगर अपने जूनून पर आ जाये और साथ साथ अपने मेहनत और समर्पण के साथ अपना काम करे तो चाहे वो जिस भी फील्ड मे हो उन्हें भी सक्सेस का स्वाद चखने को मिलेगा।

Nigar Shaji FAQs

Q.1 निगार शाजी कौन है?

Ans: निगार शाजी ISRO मे वैज्ञानिक है, यह तमिलनाडु की है और भारत के पहले सौर्य मिशन मे इनका महत्वपूर्ण योगदान रहा है।

Q.2 निगार शाजी के माता पिता का नाम क्या है और वो क्या करते है?

Ans: निगार शाजी के पिता का नाम शेख मिरान और माता का नाम सैतून बीवी है। इनके पिता किसानी करते the और माता गृहनी थी।

Q.3 निगार शाजी ने अपनी पढ़ाई किस फील्ड मे कर रखी है?

Ans: निगार शाजी ने इलेक्ट्रॉनिक एवं संचार इंजीनियरिंग मे बीटेक और एमटेक की डिग्री हासिल की है।

Pawan Kalyan Biography

Karan Deol Biography

Leave a Comment